Breaking News

Top News

सीएम ने पीएम को फिर लिखी चिट्‌ठी, 2500 रूपए की दर से धान खरीदने का आग्रह किया, चर्चा के लिए मांगा समय

Share Now

 पत्र में 32 लाख मीट्रिक टन चावल सेंट्रल पूल में लेने का आग्रह किया

images (5)

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक बार फिर पत्र लिखा है। पत्र में छत्तीसगढ़ में 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर पर धान उपार्जन करने और 32 लाख मेट्रिक टन चावल सेंट्रल पूल में लेने का आग्रह किया गया है। मुख्यमंत्री ने पत्र में कहा है कि अगर भारत सरकार समर्थन मूल्य में वृद्धि नहीं करती है तो राज्य को वर्ष 2017 और वर्ष 2018 की तरह उपार्जन के एमओयू की शर्तों में शिथिलता प्रदान करें। ताकि, राज्य सरकार अपने संसाधनों से प्रदेश के किसानों को उनकी उपज का समूचित मूल्य दिला सके। मुख्यमंत्री ने कहा है कि राष्ट्रीय स्तर के इस आर्थिक विषय पर चर्चा करना अत्यावश्यक है। उन्होंने चर्चा के लिए प्रधानमंत्री से अतिशीघ्र मिलने के लिए समय देने का अनुरोध किया है।
पत्र में कहा गया है कि धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि कर रूपए 2500 प्रति क्विंटल करने और इस साल सेंट्रल पूल में 32 लाख मीट्रिक टन चावल छत्तीसगढ़ से प्रदाय करने पूर्व में पीएम को इस वर्ष 5 जुलाई, 25 अक्टूबर और 30 अक्टूबर को पत्र लिखा गया है। छत्तीसगढ़ के किसानों को आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने इस साल भी धान उपार्जन की कार्यवाही शुरू होने वाली है। केंद्रीय खाद्य मंत्रालय ने  24 अक्टूबर को यह सूचित किया है कि भारत सरकार द्वारा घोषित समर्थन मूल्य के अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि किसानों को देने की स्थिति में सेंट्रल पूल के लिए चावल व धान नहीं लिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने लिखा है कि धान का कटोरा नाम से विख्यात छत्तीसगढ़ में अगर केन्द्र सरकार के निर्णय पर उपार्जन प्रभावित होता है तो इसके दूरगामी नकारात्मक परिणाम होंगे। इस विषय पर राज्य के सभी सांसदों, सभी राजनैतिक दलों और किसान संगठनों से बीते 5 नवम्बर को विस्तृत चर्चा की। चर्चा के दौरान उपस्थित व्यक्तियों, राजनैतिक दलों और किसान संगठनों ने एक मत से 2500 रूपए प्रति क्विंटल पर धान उपार्जन करने का समर्थन किया।