Breaking News

Top News

गुरू घासीदास राष्ट्रीय उद्यान अब टाइगर रिजर्व

Share Now

24-8

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में सीएम हाउस में छत्तीसगढ़ राज्य वन्य जीव बोर्ड की 11 वीं बैठक हुई जिसमें प्रदेश के कोरिया जिले के अंतर्गत गुरू घासीदास राष्ट्रीय उद्यान को टाइगर रिजर्व घोषित करने का निर्णय लिया गया। वर्तमान में प्रदेश में तीन टाइगर रिजर्व हैं। अचानकमार टाइगर रिजर्व, उदन्ती-सीतानदी टाइगर रिजर्व और इन्द्रावती टाइगर रिजर्व के बाद अब चौथा टाइगर रिजर्व बनाया गया है। राज्य सरकार ने हाल ही में लेमरू हाथी रिजर्व गठन की अधिसूचना जारी की थी।
लेमरू हाथी रिजर्व का गठन कोरबा, रायगढ़ तथा सरगुजा जिले के कोरबा, कटघोरा, धरमजयगढ़ और सरगुजा वनमंडल के वन क्षेत्र को मिलाकर किया जा रहा है। यह कुल 1995 वर्ग किलोमीटर में विकसित होगा। मुख्यमंत्री ने बैठक में प्रदेश के जंगलों में वन्य प्राणियों के लिए जल स्रोत विकसित करने, फलदार और सब्जी के नार वाली सब्जियों के बीजों का छिड़काव करने, बांस, केला के प्लांटेशन के निर्देश दिए ताकि वन्य प्राणियों को भोजन तथा चारा के लिए इधर-उधर न भटकना पड़े।

नरवा विकास योजना के तहत नालों को पुनर्जीवित करने और वनग्रामों में बड़े तालाबों का निर्माण करने के निर्देश भी दिए। बैठक में वन मंत्री मोहम्मद अकबर, कृषि एवं पशुपालन मंत्री रविन्द्र चौबे, विधायक खेलसाय सिंह, देवव्रत सिंह, शिशुपाल सोरी, अतिरिक्त मुख्य सचिव अमिताभ जैन, प्रमुख सचिव वन मनोज पिंगुआ, प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी, प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) अतुल कुमार शुक्ल सहित बोर्ड के सदस्य और विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।