Breaking News

Top News

78 घंटे में गिर गई महाराष्ट्र सरकार, देवेंद्र फड़नवीस ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया, उद्धव ठाकरे अगले सीएम

Share Now

महाराष्ट्र में सुप्रीम कोर्ट से झटका लगने के चंद घंटे बाद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शाम को इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे के बाद अब शाम 6 बजे शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के विधायकों की बैठक होगी। बैठक में मुख्यमंत्री चुना जाएगा। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने सुबह फैसला सुनाते हुए कहा था कि सरकार को कल शाम तक बहुमत साबित करना होगा।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद तेजी से घटनाक्रम बदला। एनसीपी से बगावत करने वाले उपमुख्यमंत्री अजीत पवार पूरी तरह अलग-थलग पड़ गए। उन्हें मनाने की कोशिश एनसीपी नेता लगातार करते रहे। सुबह शरद पवार, सुप्रिया सुले, प्रफुल्ल पटेल, छगन भुजबल सरीखे नेताओं ने अजीत पवार को मनाने का प्रयास किया। पार्टी में वापस लाने के लिए काफी देर तक मनाया। उन्हें कहा गया कि वे इस्तीफा दें।

इसके बाद अजीत पवार ने देवेंद्र फड़नवीस से भी मुलाकात की। यह सब घटनाक्रम दोपहर 12 बजे तक चला। दोपहर ढाई बजे अजीत पवार से उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। तय हो गया कि अब भाजपा सरकार के पास बहुमत नहीं रह गया है। शाम को देवेंद्र फड़नवीस ने राज्यपाल के पास जाकर इस्तीफा दे दिया। इस्तीफा देने के बाद राजभवन के पिछले दरवाजे से फड़नवीस निकल गए।

शाम 7 बजे शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस के विधायक अपने नेताओं के साथ राज्यपाल से मिलने जाएंगे। तीनों दलों के नेता सरकार बनाने का दावा करेंगे। सूत्रों ने बताया कि नए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को बुधवार को ही शपथ दिलाने की मांग की जाएगी।

सुबह सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद तेजी से बदली महाराष्ट्र की राजनीति
सुप्रीम कोर्ट ने आज सुबह अपने आदेश में कहा कि महाराष्ट्र में बुधवार शाम 5 बजे तक तमाम नए विधायक शपथ लेंगे. इसके बाद सत्ताधारी पार्टी को विधानसभा में बहुमत साबित करना होगा. सदन में ओपन बैलेट के तहत वोटिंग होगी, जिसका लाइव टेलिकास्ट भी किया जाएगा। सबसे पहले प्रोटेम स्पीकर बनाया जाएगा। उन्हें राज्यपाल शपथ दिलाएंगे। इसके बाद फ्लोर टेस्ट होगा। इस फैसले के बाद एनसीपी ने अजित पवार को मनाने के साथ ही सरकार से उप मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने कहा। शरद पवार के घर पर अजित पवार के साथ चर्चा के दौरान एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल, छगन भुजबल, सुप्रिया सुले भी मौजूद थे। इसके बाद अजित पवार मुख्यमंत्री देवेंद्र गड़नवीस से मिलने पहुँच गए हैं। एनसीपी नेता अजित पवार को 4 दिनों से लगातार मनाने की कोशिश कर रहे थे। उन्हें समझाया गया कि वे अलग थलग पड़ गए हैं। सूत्र बता रहे हैं कि अजित पवार कुछ देर में उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे सकते हैं।