Breaking News

Top News

किसानों से पैरादान कराने बड़ी मुहिम चलेगी, धान खरीदी केंद्रों में लाउडस्पीकरों से अपील करेंगे, पराली जलाने पर होगी कार्रवाई

Share Now

पैरादान के लिए किसानों को दिन में प्रेरित करेंगे रथ, नाइट चैपाल में भी अपील करेंगे

2-3.jpg
दुर्ग। पैरादान महादान के स्लोगन के साथ ग्रामीणों से पैरादान करने बड़ी मुहिम चलाई जाएगी। किसानों से पैरादान की अपील करने दिन के समय रथ चलाए जाएंगे। गौठान से होने वाले लाभ के बारे में अवगत कराया जाएगा। पैरादान कर गोवंश संवर्धन और इसके माध्यम से गौठानों का विकास कर गांव को आर्थिक विकास के रास्ते पर आगे लाने का आग्रह किया जाएगा। नरवा-गरवा-घुरूवा-बाड़ी योजना की समीक्षा करते हुए कलेक्टर अंकित आनंद ने कहा कि गौठानों के बेहतर संचालन के लिए पर्याप्त मात्रा में चारा संग्रह करें। इसके लिए गांव गांव में ग्रामीणों से अपील कर पैरा दान कराएं।

पैरादान की अपील करने दिन के समय रथ के माध्यम से पैरादान का व्यापक प्रचार किया जाएगा। देर शाम नाइट चैपाल लगाकर गांव के किसानों से पैरादान के लिए आग्रह किया जाएगा। गौठानों से होने वाले लाभ के संबंध में विस्तार से जानकारी दी जाएगी। गौठान के संचालन में व्यापक जनभागीदारी की अपील की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि धान खरीदी केंद्रों में लाउडस्पीकर लगाकर किसानों को पैरादान के लिए प्रेरित करें। गौठान ग्रामीण अर्थव्यवस्था की धुरी बन सकते हैं। इनके महत्व के बारे में नाइट चैपाल में ग्रामीणों से विस्तार से चर्चा होना चाहिए।

रविवार को मुख्यमंत्री ने जामगांव एम में ग्रामीणों से पैरादान की अपील की थी

रविवार को धान खरीदी केंद्र जामगांव एम सहित अन्य धान खरीदी केंद्रों का निरीक्षण करने पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ग्रामीणों से पैरादान करने की अपील की थी। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि गौठान आपके हैं, पशुधन आपका है, आप पशुओं के लिए पैरादान करेंगे तो आपकी खड़ी फसल की रक्षा होगी। गौठान में जितने पशु आएंगे, उतना ही ज्यादा वर्मी कंपोस्ट बनेगा। गौठान उपयोगी आर्थिक इकाई बनेगा।
कंपोस्ट खाद का बाजार चिन्हित करें

बैठक में जिला पंचायत सीईओ कुंदन कुमार ने कहा कि गौठानों में गोबर का संग्रहण कर कंपोस्ट खाद तैयार किया जा रहा है। कंपोस्ट खाद की बाजार में बड़ी मांग है। लोग जैविक खेती में दिलचस्पी ले रहे हैं। गौठानों में बनने वाले कंपोस्ट खाद के लिए बाजार चिन्हित करने का काम होना चाहिए। कंपोस्ट खाद के विक्रय और अच्छे दाम मिलने से गौठानों के उपयोग के लिए ग्रामीण और सजग होंगे। बैठक में गौठानों से लगी बाड़ियों में सब्जी के उत्पादन की समीक्षा की गई। सीईओ ने कहा कि पशुधन विकास विभाग के माध्यम से नस्ल संवर्धन के लिए काम किया जा रहा है। पशु चिकित्सक लगातार गौठानों में जाकर पशुओं के स्वास्थ्य की मानिटरिंग कर रहे हैं। पशुधन के साथ ही बाड़ी के माध्यम से भी ग्रामीणों की आय बढ़ाना है।
गणतंत्र दिवस के दिन गौठान के लिए अच्छा कार्य करने वाले होंगे सम्मानित

कलेक्टर अंकित आनंद ने कहा कि गणतंत्र दिवस के दिन गौठानों के विकास के लिए बेहतर कार्य करने वाले व्यक्तियों का सम्मान किया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि बहुत से लोग गौठान के विकास के लिए बहुत अच्छा कार्य कर रहे हैं। उन्हें प्रोत्साहित करना जरूरी है। ऐसे लोगों को गणतंत्र दिवस के अवसर पर पुरस्कृत किया जाएगा।