Breaking News

Top News

विधानसभा चुनाव में 15 सीटों पर सिमटी भाजपा दुर्ग में भी 15 का आंकड़ा पार नहीं कर पाएगी – वोरा

Share Now

सीजी न्यूज । दुर्ग

नगरीय निकाय चुनावों में पूरे प्रदेश में जबर्दस्त जीत का दावा करते हुए कांग्रेस विधायक अरूण वोरा ने आज कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जनहित के फैसलों के कारण पूरे प्रदेश के सभी निकायों में कांग्रेस की जीत पक्की है। वोरा ने कहा कि विधानसभा चुनाव में जिस तरह भाजपा का सफाया हुआ था, प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव में भी उसी तर्ज पर नतीजे आएंगे। विधानसभा चुनाव में भाजपा 90 में से 15 सीटों पर जीत पाई थी। दुर्ग नगर निगम में 60 में भाजपा 15 से ज्यादा सीटें नहीं जीत पाएगी।

वोरा ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि न सिर्फ प्रदेश बल्कि पूरे देश में भाजपा से लोगों का भरोसा उठ चुका है। छत्तीसगढ़ में 15 साल तक भाजपा सरकार ने राज किया लेकिन विकास कार्य ठप रहे। डेढ़ दशक में भाजपा सरकार ने आम जनता के हित में एक भी कल्याणकरी फैसला नहीं किया। यही हाल देश में सत्तारूढ़ मोदी सरकार का है। बेतहाशा महंगाई बढ़ने और अर्थव्यवस्था चौपट होने के कारण देश बर्बादी के कगार पर है। आम जनता का भरोसा भाजपा से उठ चुका है।

वोरा ने कहा कि भूपेश सरकार ने प्रदेश के सभी नागरिकों के राशन कार्ड बनाकर सस्ती दर पर अनाज उपलब्ध कराने की सार्वभौम योजना शुरू की। बिजली बिल हाफ करने का वादा पूरा कर आम जनता को बड़ी राहत देने का फैसला किया। किसानों के हित में भूपेश सरकार के फैसले पूरे देश में उदाहरण बन चुके हैं। शहरी इलाकों में चौमुखी विकास के साथ सिटी फारेस्ट, सौंदर्यीकरण, शहरी विकास का आधारभूत ढांचा विकसित करने के फैसले किए हैं। पर्यटन सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। इन फैसलों के कारण प्रदेश की जनता में कांग्रेस सरकार के प्रति विश्वास बढ़ा है। इसी विश्वास से नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस की जीत होगी।

वोरा ने कहा कि राज्य निर्माण के बाद दुर्ग का विकास पूरी तरह ठप रहा। लोगों को साफ पानी भी नहीं मिल पाया। शहर के इतिहास में पहली बार दूषित पेयजल की सप्लाई से दर्जनों लोगों की मौतें हुई। शहर में विकास के लिए अरबों रुपए मिलने का दावा किया गया लेकिन विकास कहीं दिखाई नहीं देता। बोरखनन जैसे कार्य भी राज्यसभा सदस्य मोती लाल वोरा की सांसद निधि और उनकी स्वयं की विधायक निधि से कराना पड़ा। वोरा ने सवाल किया कि राजधानी से विकास के लिए जारी अरबों रुपए के फंड से शहर का पर्याप्त विकास क्यों नहीं हो पाया। आम जनता इन सवालों के साथ अब कांग्रेस को शहरी सत्ता सौंपेगी ताकि शहरों का चौतरफा विकास हो सके।