Breaking News

Top News

एनआरसी को लेकर मोदी सरकार बैकफुट पर ??? यूपी के मंत्री बोले, सभी राजनीतिक दलों से चर्चा के बाद लागू करेंगे एनआरसी

Share Now

एनआरसी से भारतीय नागरिकों को डरने की जरूरत नहीं, किसी भी भारतीय की नागरिकता नहीं छिनेगी

सीएए नागरिकता देने वाला कानून, इससे किसी की नागरिकता पर संकट नहीं 

देश भर में हिंसा के लिए कांग्रेस समेत विपक्षी दल जिम्मेदार, साजिश रचकर देश को कलंकित किया  

सीजी न्यूज डॉट कॉम

एनआरसी को लेकर मोदी सरकार क्या बैकफुट पर आ गई है ? यह सवाल अलग-अलग फोरम में होने लगा है। पूरे देश में एनआरसी और सीएए के विरोध में हिंसक प्रदर्शन और बढ़ते अंतर्राष्ट्रीय दबाव के कारण केंद्र सरकार ने एनआरसी से पल्ला झाड़ना शुरू कर दिया है। सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामलीला मैदान में कहा कि 2014 में उनकी सरकार बनने के बाद आज तक एनआरसी पर कोई भी चर्चा नहीं हुई। अब दूसरे भाजपा नेता भी एनआरसी पर चर्चा से बच रहे हैं। उत्तर प्रदेश के जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने आज दुर्ग में सिर्फ सीएए पर केंद्र सरकार का गुणगान किया। एनआरसी पर एक शब्द भी नहीं कहा।

भाजपा कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में महेंद्र सिंह से जब इस संबंध में सवाल किया गया तो उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि अभी एनआरसी नहीं लाया गया है, इसलिए इस पर कोई चर्चा नहीं की गई। जब उनसे दोबारा यही सवाल किया गया कि देश भर में जगह-जगह  विरोध प्रदर्शन की सबसे बड़ी वजह एनआरसी ही है। गृहमंत्री भी संसद में एनआरसी को लेकर बयान दे चुके हैं। इसका जवाब देते हुए महेंद्र सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार सभी राजनीतिक दलों से चर्चा और सलाह मशविरा लेने के बाद एनआरसी लागू करेगी। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि सीएए या एनआरसी से देश के किसी भी नागरिक को डरने या घबराने की जरूरत नहीं है।

उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस समेत समाजवादी पार्टी व अन्य राजनीतिक दलों ने देश भर में हिंसा फैलाने का काम किया है। कांग्रेस समेत अन्य राजनीतिक दलों ने साजिश रची और देश के कई हिस्सों में लोगों को भड़काने का काम किया जिससे हिंसक प्रदर्शन होने लगे। उन्होंने कहा कि देश के नागरिक अब सीएए को समझने लगे हैं। पूरे देश में शांति का माहौल है। सीएए से किसी भी भारतीय नागरिक की नागरिकता नहीं छीनी जाएगी। पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में प्रताड़ित होकर भारत आने वाले हिंदुओं, सिखों और इसाई नागरिकों को नागरिकता देने कानून में संशोधन किया गया है। इससे भारतीय नागरिकों की नागरिकता नहीं छीनी जाएगी।

महेंद्र सिंह ने कहा कि सीएए को लेकर भी राजनीतिक दलों से विस्तृत चर्चा की गई। इसके बाद संसद में बिल पेश किया गया जो अब एक्ट बन चुका है। इसी तरह एनआरसी लागू करने से पहले भी सभी राजनीतिक दलों से चर्चा व सलाह ली जाएगी। इसके बाद एनआरसी लागू करने पर फैसला लिया जाएगा। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी सरकार के अच्छे कार्यों से पूरे देश की जनता खुश है। यूपी में सीएए और एनआरसी के विरोध प्रदर्शन के दौरान 19 लोगों की मौत पर उन्होंने कहा की पुलिस की गोली या पिटाई से किसी की भी मौत की पुष्टि नहीं हुई है।

महेंद्र सिंह ने कहा कि कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दल मोदी सरकार की सफलता को पचा नहीं पा रहे हैं। कांग्रेस ने सीएए को लेकर देश भर में  भ्रम फैलाकर हिंसक प्रदर्शन की साजिश रची। सत्ता पाने के लिए कांग्रेस पार्टी पहले भी कई बार देश को कलंकित करने की साजिश रच चुकी है। प्रेस कांफ्रेंस में दुर्ग के सांसद विजय बघेल, प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव, विधायक विद्यारतन भसीन, पूर्व विधायक लाभचंद बाफना, देवेंद्र चंदेल, कांतिलाल जैन, डोमार सिंह वर्मा, उषा टावरी, अजय तिवारी, सतीश समर्थ, राहुल पंडित सहित अन्य भाजपा नेता मौजूद थे।