Breaking News

Top News

ननकाना साहेब पर हमले की वर्ल्ड सूफी फ़ोरम के चेयरमैन हज़रत सैय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने कड़ी निंदा की, भिलाई-दुर्ग में मुसलमानों ने पाकिस्तान का पुतला जलाकर विरोध जताया

Share Now

सीजी न्यूज डॉट कॉम 

पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारा में पत्थरबाजी की घटना का भारतीय मुसलमानों ने कड़ा विरोध किया है। कल मुंबई में आल इंडिया उलमा व मशाइख़ बोर्ड के अध्यक्ष और वर्ल्ड सूफी फ़ोरम के चेयरमैन हज़रत सैय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने ननकाना साहिब गुरुद्वारा में पत्थरबाजी की घटना की निन्दा करते हुए कहा कि यह काम नबी की तालीम के सख्त खिलाफ है। इसी घटना के विरोध में आज भिलाई-दुर्ग में मुस्लिम समाज के लोगों ने पाकिस्तान का पुतला जलाया। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के खिलाफ मुसलमानों ने जमकर नारेबाजी भी की।

आपको बता दें कि वर्ल्ड सूफी फ़ोरम के चेयरमैन हज़रत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि जब पैगम्बर ए इस्लाम सल्लाल्लाहू अलैहि वसल्लम ने मदीना स्टेट बनाया तो वहां के अल्पसंख्यकों के अधिकार कायम रखे और उनकी इबादतगाहों तथा उनकी जान-माल की हिफ़ाज़त का वादा किया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की सरकार को इस मामले में फौरन दखल देना चाहिए और हर कीमत पर ऐसा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करना चाहिए। गुरुद्वारे की पवित्रता को बरकरार रखा जाए। ननकाना साहिब में सिख भाइयों के प्रथम गुरू गुरू नानक देव का जन्म हुआ था। इसलिए इस जगह पर सिख समाज की अकीदत है। उनकी अकीदत का सम्मान किया जाना चाहिए। पाकिस्तान के लोग नबी की तालीम पर अमल करें।
हज़रत अशरफ ने कहा कि इस तरह की हरकतें पैग़म्बरे अमन हम सबके नबी हजरत मोहम्मद की तालीम की सीधे तौर पर अवहेलना है। पाकिस्तान के सभी मुसलमान बाहर निकलकर सिख भाइयों की मदद के लिए आगे आएं। उन्होंने कहा कि भारत का हर मुसलमान सिख भाइयों के साथ है और हम इस तरह के कृत्य को बर्दाश्त नहीं करेंगे। इस घटना की कड़ी निन्दा करते हैं। इस्लाम किसी को भी दूसरों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने का अधिकार नहीं देता है। इस्लाम की तालीम हर जगह ज़ुल्म और ज़ालिम के खिलाफ मजलूम के साथ खड़े होना है।

भिलाई-दुर्ग में पाकिस्तान का पुतला फूंका

ननकाना साहेब में पथराव के विरोध में दुर्ग और भिलाई में मुस्लिम समाज ने पाकिस्तान का पुतला दहन किया। भिलाई में सुपेला चौक में पाकिस्तान का झंडा और प्रधानमंत्री इमरान खान का पुतला जलाकर विरोध किया गया। पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए मुस्लिम समाज के लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन किया। मुस्लिम समाज के नागरिकों ने नानक साहेब गुरुद्वारा पर हमले को कायराना औऱ दिमाग का पागलपन बताया। उन्होंने कहा कि कुरान पाक में साफ लिखा है कि जो सभी धर्म का सम्मान करे, वो ही सच्चा मुसलमान होता है।

हजरत मोहम्मद ने फरमाया है कि वो मुसलमान सबसे बेहतर है, जो अपने पड़ोस में रहने वाले पड़ोसियों का ध्यान रखे और उनकी खिदमत (सेवा) करे। भले ही पड़ोसी किसी भी धर्म का हो। सिखों पर हमले करने वाले पाकिस्तानी असामाजिक तत्व ये बातें शायद भूल गए हैं। प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा। प्रदर्शन में प्रमुख रुप से कर्बला कमेटी के गुलाम सैलानी, अय्यूब खान, हाजी कलाम, जाँ निसार अख्तर, मो. शादाब, अज्जू अहमद, इरफान बब्बू, नसीम खान, जाकिर खान, अरशद खान, इरफान खान, शाहिद, मंजर हुसैन, बरकत अहमद सहित अन्य लोग शामिल हुए।

दुर्ग में आज तकिया पारा में मुस्लिम समाज के लोगों ने पाकिस्तान का पुतला दहन किया। पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए गए। मुस्लिम समाज के नेता नासिर खोखर ने कहा कि पाकिस्तान में ननकाना साहिब की घटना का पूरा मुस्लिम समाज घोर निन्दा करता है। एक तरफ करतारपुर कॉरीडोर खोलकर सद्भावना का दिखावा किया जा रहा है, वहीं ननकाना साहिब में पथराव की घटना हो रही है। घटना की निंदा करते हुए पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों में प्रमुख रूप से नासिर खोखर, अमीन अहमद, अब्दुल सईद, मो. इरशाद, नईम कुरैशी, शोएब खान, वसीम रजा, हाजी रफीक मंसूरी, हाजी गुलाम रसूल, जब्बार अली, रऊफ मंसूरी, मशीर खान, नदीम खान, कमल खान सहित मुस्लिम समाज के अन्य लोग उपस्थित थे।