Breaking News

Top News

बेमौसम बारिश से रबी की फसल बर्बाद, केंद्र सरकार किसानों को मुआवजा दे – कांग्रेस  

Share Now

सीजी न्यूज डॉट कॉम

बेमौसम बरसात से भले ही ठंड बढ़ गई है लेकिन बारिश के कारण राजनीति गरमा गई है। बेमौसम बारिश के कारण फसल को हुए नुकसान का मुआवजा देने के मामले में कांग्रेस और भाजपा नेता आमने सामने हो गए हैं। भाजपा नेताओं का कहना है कि राज्य सरकार को किसानों को मुआवजा देना चाहिए। वहीं कांग्रेस नेता कह रहे हैं कि प्राकृतिक आपदा होने पर केंद्र सरकार ही किसानों को मुआवजा देती है। भाजपा नेताओं को राजनीति का सामान्य ज्ञान होना चाहिए। भाजपा नेताओं को केंद्र सरकार से मुआवजा भुगतान की मांग करना चाहिए।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संयुक्त महामंत्री राजेंद्र साहू का कहना है कि केंद्र की मोदी सरकार ने किसानों की आय दोगुना करने का आश्वासन दिया था। यह वादा पूरा करने में मोदी सरकार नाकाम रही। किसानों की आय बढ़ाने के वादे करने वाली केंद्र सरकार कम से कम बेमौसम बारिश से किसानों को नुकसान का मुआवजा दे सकती है। यह काम केंद्र सरकार को तत्काल करना चाहिए। इसमें लेटलतीफी नहीं होना चाहिए। राज्य सरकार से मुआवजा देने की मांग करने वाले भाजपा नेताओं को इतना मामूली सामान्य ज्ञान होना चाहिए कि आपदा होने पर केंद्र सरकार आपदा कोष या अन्य राष्ट्रीय कोष से राहत देने की घोषणा करती है।

शहर कांग्रेस अध्यक्ष आरएन वर्मा ने कहा है कि बेमौसम बारिश से रबी की फसल को काफी नुकसान हुआ है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार ने किसानों को राहत देने के हरसंभव फैसले किए हैं। बेमौसम बारिश से हुए नुकसान पर राज्य सरकार नजर रख रही है। भूपेश सरकार किसानों को राहत देने के लिए प्रतिबद्ध है। केंद्र सरकार को किसानों को हुए नुकसान का तत्काल मुआवजा देना चाहिए।

 

जिला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष तुलसी साहू ने कहा है कि प्रदेश की भूपेश बघेल सरकार ने पिछले 14 माह के कार्यकाल में किसानों के हित में अभूतपूर्व निर्णय लिए हैं। वहीं किसानों की आय दोगुना करने के दावे करने वाली केंद्र की मोदी सरकार ने किसानों की उपज का समर्थन मूल्य तक नहीं बढ़ाया। केंद्र सरकार ने हर मामले में किसानों के साथ छल किया है। मोदी सरकार को बेमौसम बारिश के कारण किसानों को हुए नुकसान का आकलन कर तत्काल मुआवजा देने की घोषणा करना चाहिए।

 

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संयुक्त महामंत्री अब्दुल गनी ने केंद्र सरकार पर किसानों की अनदेखी करने का आरोप लगाया है। गनी ने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों के हित में कोई फैसला नहीं किया। पिछले 6 साल में किसान बड़ी तादाद में आत्महत्या करने पर मजबूर हुए। इससे पहले छत्तीसगढ़ में 15 साल तक राज करने वाली रमन सरकार ने भी बोनस के मामले में वादाखिलाफी की जिसके कारण किसानी आर्थिक स्थिति खराब होती चली गई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हजारों करोड़ रुपए की कर्जमाफी के बाद लगातार दूसरे साल 25 सौ रूपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी की है। बेमौसम बारिश के कारण किसानों को हुए नुकसान की भरपाई करने केंद्र सरकार को तत्काल मुआवजा देने की घोषणा करना चाहिए।