Breaking News

Top News

विधायक ने चार विभागों की समीक्षा की, पीडब्लूडी अफसरों की कछुआचाल पर बिफरे

Share Now

दुर्ग विधायक अरूण वोरा ने सरकारी स्कूलों को स्मार्ट स्कूल की तर्ज पर विकसित करने कहा

सीजी न्यूज डॉट कॉम

दुर्ग के विधायक अरूण वोरा ने शहर में विकास कार्यों की समीक्षा करने आज चार विभागों के अफसरों को तलब किया। पीडब्लूडी, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा के दौरान दुर्ग के महापौर धीरज बाकलीवाल और निगम कमिश्नर इंद्रजीत बर्मन भी मौजूद थे। वोरा ने पिछले 14 माह में पीडब्लूडी अफसरों की निष्क्रियता पर कड़ी नाराजगी जताई। सभी अफसरों को शहर के पेंडिंग विकास कार्यों को तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए।

वोरा ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप पीडब्लूडी विभाग ने शहर में पर्याप्त विकास कार्य नहीं कराया। दुर्ग शहर के मुख्य मार्ग नेहरू नगर से मिनी माता चौक तक चौड़ीकरण और सौंदर्यीकरण के लिए 84 करोड़ रूपए की परियोजना सहित कई मुख्य मार्गों के लिए उन्होंने राशि स्वीकृत कराई लेकिन पीडब्लूडी अफसर अपनी कछुआ चाल से विकास कार्य कराने में असफल रहे। वोरा ने पीडब्लूडी के ईई वीके कोर्राम पर कड़ी नाराजगी जताते हुए कहा कि ऑडिटोरियम निर्माण, प्रयास आवासीय विद्यालय और जिला अस्पताल के सर्जिकल वार्ड का जीर्णोद्धार का काम काफी धीमी गति से हो रहा है। सड़कों के डामरीकरण और पैच रिपेयरिंग का काम करने में भी विभागीय अफसरों ने इच्छाशक्ति नहीं दिखाई।

वोरा ने शिक्षा विभाग के अफसरों को शहर के सरकारी स्कूलों को स्मार्ट स्कूल व मॉडल स्कूल की तर्ज पर विकसित करने कहा। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से शहर के स्लम वार्डों में दो नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और वार्ड क्लीनिक खोलने की जानकारी ली। वोरा ने महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों से कहा कि माताओं और बच्चों के लिए संचालित सभी कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी जनप्रतिनिधियों को मिलना चाहिए ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को योजनाओं का लाभ मिल सके।

वोरा ने कुपोषण के खिलाफ कांग्रेस सरकार की मुहिम की सराहना करते हुए कहा कि स्लम वार्डों में इसका विशेष ध्यान रखा जाए। बैठक में महापौर धीरज बाकलीवाल, नगर निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन एमआईसी मेंबर अब्दुल गनी, राजेश शर्मा, अंशुल पांडेय, सीएमएचओ गंभीर सिंह ठाकुर, सिविल सर्जन डॉ. पी बालकिशोर, डॉ. राजेन्द्र खंडेलवाल, परियोजना अधिकारी विपिन जैन, नीरू सिंह, बीईओ केवी राव, अमित घोष सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।