Breaking News

Top News

वक्फ बोर्ड : रायपुर के बाद अब दुर्ग में वक्फ संपत्ति के किराएदारों को नोटिस, 29 को आएंगे आब्जर्वर  

Share Now

रायपुर में वक्फ संपत्तियों के किराएदारों से नया एग्रीमेंट किया गया। इस दौरान वक्फ बोर्ड के चेयरमैन सलाम रिजवी, अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन महेंद्र छाबड़ा सहित बोर्ड के अन्य मेंबर उपस्थित थे।

– 20 साल में जो काम नहीं हो पाया, उससे ज्यादा काम चंद महीनों में बोर्ड चेयरमैन सलाम रिजवी ने कर दिखाया   

राजधानी में छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के प्रयासों से हजरत फातेहशाह मजार और मस्जिद ट्रस्ट कमेटी पुलिस लाईन टिकरापारा रायपुर के ग्राऊंड फ्लोर की दुकानों और प्रबंध कमेटी के बीच विवाद का समाधान हो गया है। राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी ने खुद पहल करते हुए आठ दुकानों का नया किराया अनुबंध और नए  किराया निर्धारण की प्रक्रिया पूरी कराई। संस्था की ग्राऊंड फ्लोर की लगभग 24 दुकानों के दुकानदारों ने नए किराए का अनुबंध कर लिया है।
राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष  सलाम रिजवी ने बताया कि समस्या का समाधान करने  आब्जर्वर कमेटी की सलाह पर वक्फ संस्था के ग्राऊंड फ्लोर पर स्थित मेन रोड की दुकानों का किराया 5 हजार रूपए और मस्जिद के आंगन की ओर स्थित दुकानों का किराया 2 हजार रूपए प्रति माह की दर से तय किया गया। ग्राऊंड फ्लोर पर मेनरोड की ओर स्थित दुकानों और मस्जिद के आंगन की ओर स्थित सभी दुकानों पर यही किराया दर लागू किया जाएगा।

इस फैसले पर मस्जिद के सभी जमातियों ने सहमति दी है। दुकानों से संबंधित समस्या के निराकरण के लिए वक्फ बोर्ड ने 7 सदस्यीय ऑब्जर्वर दल का गठन किया गया था। ऑब्जर्वर दल के सदस्यों में रिटायर जिला न्यायाधीश इनाम उल्लाह शाह, वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अब्दुल हमीद हयात, अधिवक्ता सैयद जाकिर अली, चार्टर्ड एकाउंटेंट अकरम सिद्दीकी, अधिवक्ता सैयद सादिक अली, वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता हाजी नईम अख्तर शामिल हैं।

कमेटी के कोऑडिनेटर मो. तारिफ अशरफी नियुक्त किए गए थे। ऑब्जर्वर दल ने सभी दुकानदारों से समस्या के निराकरण और नए किराया अनुबंध व किराया निर्धारण के बारे में चर्चा की। रिजवी ने बताया कि राज्य वक्फ बोर्ड सभी दुकानदारों से नवीन किराया अनुबंध कराएगा। वक्फ संस्था के कॉम्लेक्स की जर्जर स्थिति में जल्द ही सुधार कर लिया जाएगा।

दुर्ग में 29 को आएंगे आब्जर्वर, जामा मस्जिद के दुकानों और मकानों के किराएदारों को सूचना नोटिस  

इधर, दुर्ग में राज्य वक्फ बोर्ड से नियुक्त आब्जर्वर नोमान अकरम व अन्य सदस्य 29 फरवरी को दुर्ग आएंगे। जामा मस्जिद की दुकानों और मकानों के किराएदारों को 29 फरवरी को सर्किट हाउस में उपस्थित होने की सूचना भेजी गई है। सूचना नोटिस में किराएदारों से एग्रीमेंट, किराया रसीद व अन्य संबंधित दस्तावेज के साथ शनिवार को दोपहर 2 बजे अनिवार्य रूप से उपस्थित होने कहा गया है। राज्य वक्फ बोर्ड के आब्जर्वर दल के सदस्य किराएदारों से चर्चा करेंगे। अनुपस्थित रहने पर होने वाली परेशानी या बाधा के लिए किराएदार जिम्मेदार रहेंगे।

20 साल में पहली बार वक्फ बोर्ड में हो रहे हैं सही फैसले  

राज्य निर्माण के बाद पिछले 20 साल में पहली बार वक्फ बोर्ड ने काम करना शुरू किया है। जितने काम पिछले 6 माह में किए गए हैं, उतने काम वक्फ बोर्ड के पिछले चारों कार्यकाल में 5 साल में भी नहीं हो पाया है। अभी तक वक्फ बोर्ड के पदाधिकारी अलग अलग जिलों में वक्फ कमेटियों के पदाधिकारियों की नियुक्ति की एवज में रकम वसूली और वक्फ संपत्तियों को बेचने का गोरखधंधा करते रहे। वक्फ बोर्ड के चेयरमैन सलाम रिजवी की कार्यशैली से पहली बार मुस्लिम समाज में वक्फ संपत्तियों की सुरक्षा को लेकर नया भरोसा पैदा हुआ है।