Breaking News

Top News

अमृत मिशन का काम अप्रैल तक पूरा करने एग्रीमेंट, अब तक सिर्फ 52 फीसदी काम हुआ, विधानसभा में वोरा ने उठाया सवाल

Share Now

 

सीजी न्यूज डॉट कॉम

शहर में अमृत मिशन प्रोजेक्ट के तहत पेयजल विस्तार योजना का काम धीमी गति से होने पर विधायक अरूण वोरा ने आज विधानसभा में सवाल किया। बजट सत्र में  विधायक वोरा ने शहर में सुस्त चाल से चल रही अमृत मिशन पेयजल योजना को लेकर सवाल किए। विधायक ने मिशन अमृत के कार्यों की धीमी गति पर चिंता जताई।

उन्होंने नगरीय निकाय मंत्री शिव डहरिया से पूछा कि कार्य एजेंसी को पाइप लाइन बिछाने व नल कनेक्शन प्रदाय का काम कब तक पूर्ण करने का अनुबंध है और  शहर में नई लाइन बिछाने के अलावा पुराने पाइप बदले जाने का क्या प्रावधान है?   निकाय मंत्री ने जवाब देते हुए बताया कि दुर्ग निगम क्षेत्र में 146.10 करोड़ की लागत से लक्ष्मी सिविल इंजीनिरिंग प्रा. लि. को जल प्रदाय योजना का कार्यादेश दिया गया है। अनुबंध के अनुसार 30 अप्रैल 2020 तक जल प्रदाय का काम पूरा करना है। अब तक 52 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है।

नई पाइपलाइन के अलावा 90.26 किमी पुरानी पाइप लाइन बदलने का प्रावधान है साथ ही पेयजल की समस्या के निराकरण के लिए 4 नए पानी टंकी का निर्माण करने  8.59 करोड़ की राशि स्वीकृत है। यह कार्य अक्टूबर 2021 तक पूर्ण करना प्रस्तावित है। शहर के 11 वार्डों में कुल 12 ओवरहेड पानी टंकी के निर्माण से शहर की पेयजल समस्या दूर हो जाएगी।

वोरा ने राज्य के कृषि भूमि का सिंचित रकबा, किसानों को मिलने वाले स्प्रिंकलर और ड्रिप खरीदी का लाभ व औद्योगिक दुर्घटनाओं में हताहत हुए मजदूरों के परिजनों को मुआवजा व अनुकंपा नियुक्ति से संबंधित भी सवाल उठाए।