वन, आवास एवं पर्यावरण मंत्री मोहम्मद अकबर ने नवा रायपुर अटल नगर के सेक्टर-15 और सेक्टर 30 में आवासीय भू-खण्ड परियोजना का शुभारंभ करते हुए कहा कि यह परियोजना नवा रायपुर अटल नगर में बसाहट बढ़ाने में महत्वपूर्ण साबित होगी। इन सेक्टरों में शासन ने पहले की अपेक्षा भूखंड का आकार छोटा कर दिया है। ताकि, ज्यादा से ज्यादा लोग प्लाट खरीद सकें।
नवा रायपुर विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने बताया कि सेक्टर 15 में 2900 से 4000 वर्गफीट के भू-खण्ड और सेक्टर-30 के पॉकेट डी 3 और बी 3 में 1500 से 2350 वर्गफीट के लीज पर आबंटन किया जाएगा। परियोजना शुरू करने के अवसर पर नवा रायपुर अटल नगर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एनएन एक्का सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

सेक्टर-15 में ऑफसेट प्रीमियम दर 1240 रूपए प्रति वर्गफीट निर्धारित है। सेक्टर-30 में यह दर 1135 रूपए प्रति वर्गफीट निर्धारित है। प्राधिकरण दो वर्षों में प्लाट लेवल तक पहुंच मार्ग, पानी, बाह्य विद्युतीकरण और सीवरेज विकसित करेगा। इसके बाद पांच वर्षों में आबंटितियों को निर्माण पूरा करना होगा।
आबंटितियों के लिए 30 वर्षों के लिए एकमुश्त भू-भाटक के भुगतान का विकल्प भी रखा गया है। भवन निर्माण के बाद आबंटित भू-खण्ड को फ्री-होल्ड किया जा सकेगा। आवेदन की अंतिम तिथि 15 अप्रैल 2020 निर्धारित की गई है। प्राधिकरण की वेबसाईट www.navaraipuratalnagar.com  के Properties सेक्शन में जाकर ऑनलाईन आवेदन किया जा सकता है। इसकी हार्डकापी प्राधिकरण में अंतिम तिथि के पहले दोपहर 3 बजे तक जमा की जा सकती है।
सेक्टर-15 रायपुर शहर के करीब होने के साथ-साथ सेक्टर-21 में आकार ले रहे सी.बी.डी. के सामने स्थित है। यहां दिल्ली पब्लिक स्कूल निर्माणाधीन है। नवा रायपुर में प्रस्तावित सी.बी.डी. रेल्वे स्टेशन, सेक्टर के बेहद करीब होगा। सेक्टर-30 में एमिटी इंटरनेशनल स्कूल, आदर्श इंटरनेशनल स्कूल और अविनाश ग्रुप और जी.टी. होम्स की प्राइवेट टाउनशीप पहले से ही विकसित हो चुकी है। यह सेक्टर आई.आई.एम. रायपुर, बालको कैंसर अस्पताल और जंगल सफारी के पास है।