छत्तीसगढ़ स्टेट पावर कंपनियों के चेयरमेन शैलेन्द्र शुक्ला ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव को त्यागपत्र भेजा है। इस्तीफे का कारण पता नहीं चला है। ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव को भेजे गए  पत्र में उन्होंने चेयरमेन के रूप में कार्य करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद दिया है।

उन्होंने पत्र में सहयोग और मार्गदर्शन के लिए आभार प्रकट किया है। अभी यह तय नहीं है कि शुक्ला ने निजी कारणों से इस्तीफा दिया है या राजनीतिक या अन्य कारणों से उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। इससे पहले रमन सरकार के कार्यकाल के दौरान शुक्ला के पास क्रेडा की कमान थी। उनके कार्यकाल में ही रतनजोत से डीजल बनाने का महाअभियान चलाया गया जो सुपर फ्लाप साबित हुआ।

हाल ही में पिछली सरकार के कार्यकाल में रतनजोत प्लांटेशन में बड़ी गड़बड़ी के कारण दो अफसरों को गिरफ्तार किया गया है। शुक्ला ने इस्तीफा क्यों दिया ? यह अभी तक पता नहीं चल पाया है। इस्तीफे का कारण जानने कई बार उनसे मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया। शुक्ला को मध्यप्रदेश के एक कद्दावर नेता का करीबी माना जाता है।