• बाहर से दर्शन करने आने वाले पैदल यात्रियों और गाड़ियों पर रोक लगाई जाएगी।
  • स्पेशल ट्रेन और स्पेशल टिकट कॉऊंटर की व्यवस्था नहीं होगी

द सीजी न्यूज 

कोरोना वायरस के संक्रमण से नागरिकों की सुरक्षा के लिए डोंगरगढ़ में चैत्र नवरात्रि पर्व पर होने वाले मेले सहित जिले में होने वाले सभी मेलों का आयोजन स्थगित कर दिया गया हैं। बम्लेश्वरी मंदिर डोंगरगढ़ में यात्रियों की सुविधा के लिए लगाया गया रोपवे 17 मार्च से आगामी आदेश तक बंद रहेगा।

राजनांदगांव के कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव के कारण पैदल यात्रा और कार सेवा को स्थगित करने का निर्णय लिया है। पदयात्रा मार्ग में पदयात्रियों के लिए किसी भी प्रकार की सुविधा उपलब्ध नहीं रहेगी। शहर में प्रवेश करने वाले रास्तों पर चेक पोस्ट लगाया जाएगा। बाहर से दर्शन करने आने वाले पैदल यात्रियों और गाडि़यों पर रोक लगाई जाएगी। नवरात्रि के दौरान मंदिर खुले रहेंगे। पूजा-पाठ किया जाएगा, लेकिन सीढ़ियों पर लगने वाली खाद्य सामग्रियों की दुकाने बंद रहेंगी। इस साल नवरात्र पर्व में डोंगरगढ़ आने वाले स्पेशल ट्रेन और स्पेशल टिकट कॉऊंटर की व्यवस्था नहीं की जाएगी। खुले में प्रसाद भी वितरित नहीं किया जाएगा। मंदिर में दर्शन के लिए मास्क और सेनेटाईजर लगाकर जाने दिया जाएगा। सर्दी, खासी से पीड़ित लोगों को मंदिर जाने से पहले मेडिकल चेकअप कराना होगा। इस पर मंदिर ट्रस्ट के सदस्यों ने भी सहमति दी है। मंदिर में जाने के लिए एक ही रास्ता होगा। जहां पर मेडिकल कैम्प लगाया जाएगा।

मंदिर की साफ-सफाई की विशेष व्यवस्था रहेगी। मंदिर में ऊपर से नीचे तक सीढ़ियों में सेनेटाईजर और हेण्डवॉस की व्यवस्था रहेगी। कर्मचारियों को भी मास्क दिया जाएगा। जिन लोगों को सर्दी, खासी और बुखार हो उन्हें दर्शन करने न आने की अपील की गई है। दूसरे राज्यों और शहरों से आने वाले दर्शनार्थियों को रोका जाएगा।

अन्य राज्यों से आने वाले बसों पर भी कड़ी निगरानी रखी जाएगी। जिले में किसी भी प्रकार का सामुहिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं होगा। इसके लिए एसडीएम से अनुमति लेना आवश्यक होगा। आयोजनों में साफ-सफाई और हेण्डवॉश की पूरी व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। शहर के सभी चेक पाईंट पर कोरोना वायरस के संबंध में प्रचार-प्रसार के लिए पोस्टर, बेनर और लाऊडस्पीकर भी लगाया जाएगा।

रेल्वे स्टेशनों पर भी लाऊडस्पीकर और पोस्टर से लगातार जानकारी दी जाएगीे। डोंगरगढ़ मंदिर के अलावा जिले के अन्य जगहों पर लगने वाले मेले को भी प्रतिबंधित किया गया है। नवरात्र पर्व के दौरान स्थानीय स्तर पर होने वाले कार्यक्रमों पर भी रोक लगाई गई है। लोगों से अपील की गई है कि वे अपने घरों में ही पूजा-पाठ करें।