राज्य शासन ने सभी जिला कलेक्टरों को पत्र भेज कर कोरोना वायरस से बचाव के संबंध में विदेश से भारत आए लोगों की पहचान करने और उनका चिकित्सा परीक्षण कराने के निर्देश जारी किए हैं। भारत सरकार के राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण नई दिल्ली ने छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव को इस संबंध में पत्र भेजा है।
छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग ने कलेक्टरों को भेजे पत्र में कहा है कि भारत सरकार से प्राप्त निर्देश के अनुसार  चिन्हांकित देशों से 1 जनवरी 2020 से विदेश गए और लौटे व्यक्तियों की पहचान कर उनके व उनके परिवारों का चिकित्सा परीक्षण चिकित्सा परीक्षण निर्धारित मापदण्डों के अनुसार कराया जाए।
राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण नई दिल्ली द्वारा छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव को विस्तृत दिशा-निर्देश  भेजे गए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोरोना से प्रभावित देशों (जहां कोरोना के कन्फर्म केस मिले है) की सूची भी भेजी गई है। कोरोना वायरस से प्रभावित देशों की सूची में वेस्टर्न पेसेफिक क्षेत्र के देश चाइना, जापान, रिपब्लिक ऑफ कोरिया, वियतनाम, सिंगापुर, आस्ट्रेलिया, मलेशिया, कम्बोडिया, फिलिपींस, साउथ ईस्ट एशिया के देश थाईलैंड, नेपाल, श्रीलंका, इंडिया, अमेरिकी क्षेत्र के देश यूनाइडेट स्टेट ऑफ अमेरिका, कनाडा, यूरोपीय क्षेत्र के देश फ्रांस, फिनलैंड, जर्मनी, इटली, रशियन फेडरेशन, स्पेन, स्वीडन, यूनाईटेड किंग्डम, ईस्टर्न मेडिटेरियन क्षेत्र के यूनाईटेड अरब अमीरात  शामिल हैं।
पत्र में कहा गया है कि ऐसे व्यक्तियों की पहचान करने के लिए स्थानीय व्यक्तियों और अशासकीय संस्थाओं का सहयोग लिया जाए। इसका प्रचार किया जाए ताकि ऐसे व्यक्ति जो विदेश से आए हैं, वे स्वयं आकर जानकारी दें और चिकित्सा परीक्षण कराएं। इस कार्य में विदेश पंजीयन कार्यालय और जिला पुलिस अधीक्षक निगरानी करेंगे।