Breaking News

Top News

शहर में फिर जलसंकट, गंदे पानी की सप्लाई शिकायत बढ़ी, बार-बार मेंटेनेंस से फर्जी बिलिंग का संदेह    

Share Now

शुद्ध पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित करे नगर निगम प्रशासन : वोरा

द सीजी न्यूज

शहर में एक बार फिर जल संकट और गंदा पानी सप्लाई होने की शिकायतें मिलने लगी हैं। नगर निगम की नई परिषद का गठन होने के बाद 24 एमएलडी फिल्टर प्लांट का संधारण किया जा चुका है। फेज टू योजना के फिल्टर प्लांट में भी जरूरी संधारण कार्य हुए। इसके बावजूद पानी सप्लाई व्यवस्था नहीं सुधर पाई है। बार बार पानी सप्लाई में रुकावट और गंदे पानी की सप्लाई से नगर निगम की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं।

विधायक अरुण वोरा के कड़े निर्देश के बावजूद नगर निगम के जलकार्य विभाग की व्यवस्था नहीं सुधर रही है। आज विधायक वोरा ने महापौर धीरज बाकलीवाल के साथ अफसरों से पानी सप्लाई में रुकावट का कारण पूछते हुए जवाबतलब किया। अफसरों ने हमेशा की तरह वाल्व और पंप में खराबी जैसे रटे-रटाए कारण गिना दिए। इसके बाद विधायक और महापौर लौट गए। व्यवस्था जस की तस।

फर्जी बिलिंग की कई बार हो चुकी है शिकायतें

आपको बता दें कि नगर निगम के जलकार्य विभाग में पहले कई बार फर्जी तरीके से लाखों रुपए की बिलिंग की शिकायतें मिल चुकी हैं। शिकायतों में कहा गया कि मेंटेनेंस के नाम पर पानी सप्लाई रोकी जाती है। इसके बाद मामूली मेंटेनेंस दिखाकर  लाखों रुपए की बिलिंग करते हुए भुगतान कर लिया जाता है। पूर्व निगम कमिश्नरों ने जलकार्य विभाग के कार्यों और फर्जी बिलिंग की शिकायत पर जांच भी शुरू कराई। इसके बाद जांच के नाम पर खानापूर्ति करते हुए फाइल बंद कर दी गई। पिछले तीन माह में बार-बार मेंटेनेंस होने से फिर से फर्जी बिलिंग के संदेह गहराने लगे हैं।

महापौर ने दिए सख्त निर्देश

महापौर धीरज बाकलीवाल ने जल विभाग के अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि रोज-रोज फिल्टर प्लांट में आ रही खराबी से निबटने की कार्ययोजना बना कर काम करें। गर्मी में आम जनता को कोई समस्या नहीं होना चाहिए। इस दौरान जलकार्य प्रभारी संजय कोहले, पूर्व पार्षद राजेश शर्मा, अंशुल पांडेय, सबइंजीनियर एआर राहंगडाले, भीम राव, नारायण ठाकुर व मनोज सिंह और कपीश दीक्षित मौजूद थे।