कलेक्टर व जिला दण्डाधिकारी जयप्रकाश मौर्य ने कोरोना (कोविड-19) के संक्रमण को रोकने और नियंत्रित करने जनहित में दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा-144, एपेडेमिक एक्ट-1897, आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की धाराओं में प्रदत्त की गई शक्तियों का प्रयोग करते हुए निषेधाज्ञा जारी किया है। कलेक्टर ने राजनांदगांव जिले में 22 मार्च की रात 9 बजे से 31 मार्च की मध्य रात्रि तक कर्फ्यू घोषित किया है। यह कर्फ्यू जिले के सभी नगरीय निकायों तथा ग्राम पंचायतों में लागू किया गया है।

आदेश जारी होने के बाद केवल आवश्यक संस्थान व व्यापारिक प्रतिष्ठान खुले रहेंगे। मेडिकल स्टोर, दैनिक उपयोग की वस्तुओं को बेचने जनरल स्टोर, किराना दुकान, प्रोव्हीजन स्टोर, सब्जी व फल से संबंधित स्थायी दुकान व घूम-घूम कर बेचने वाले सब्जी व फल के ठेले, पेट्रोल पंप, गैस एजेंसियां, गुड्स कैरियर से संबंधित सेवाएं व उनको संचालित करने वाले संस्थान, मीडिया संस्थान, मोबाईल रिचार्ज दुकान, अनाज एवं सब्जी मंडियां खुली रहेगी।
शासकीय प्रतिष्ठानों में इमरजेंसी सुविधा प्रदान करने वाले सभी कार्यालय, जल प्रदाय सेवाएं, बैंक, एटीएम, टेलीफोन, एक्सचेंज एवं दूरसंचार से संबंधित कार्यालय (शासकीय एवं निजी संस्थान दोनों) खुले रहेंगे। आज जारी नए आदेश के अनुसार जिले के सभी होटल, रैन बसेरे और रेस्टोरेंट भी बंद रहेंगे। जिन संस्थानों को खोलने की अनुमति दी गई है, उनके समय को सीमित कर दिया गया है। ये संस्थान अब केवल सुबह 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक खुलेंगे। निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।