• कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम करने मुफ्ती हजरातों के साथ बैठक में लिये कई अहम फैसले
  • अपील का पालन कराने सभी जिलों के कलेक्टर और एसपी को पत्र भेजा गया 

 सीजी न्यूज 

राज्य वक्फ बोर्ड कार्यालय में सोमवार को छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के चेयरमैन सलाम रिजवी ने प्रदेश के तमाम मुफ्ती हजरातों के साथ कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने अहम बैठक ली। बैठक में शरीअत और हदीस (सही बुखारी शरीफ के पार्ट 1 में सफा नंबर 122 हदीस नंबर 666 और सफा नंबर 123 हदीस नंबर 667) के हवाले से फैसला किया गया कि मस्जिदों में फर्ज नमाजों में जमात की तादाद कम से कम रखी जाए। ताकि कोविड 19 के संक्रमण को रोका जा सके।

राज्य वक्फ बोर्ड ने सभी मुसलमानों से अपील की है कि जब तक कोरोना वायरस का खतरा पूरी तरह से खत्म नहीं हो जाता, तब तक सभी लोग अपने-अपने घरों में रहें। बीमारी से बचने के लिए दुआ करें। मस्जिद, दरगाह, कब्रस्तान में भीड़ इकट्ठा न होने दें। ज्यादा जरूरी होने पर ही अपने घरों से बाहर निकलें। अपने आस-पास साफ-सफाई का इंतजाम करें। शासन-प्रशासन के सभी निर्देशों का पालन अनिवार्यता से करें। यह फैसला भी किया गया कि अज़ान लाऊड स्पीकर से न देते हुए बैरूने मस्जिद दी जाए।

मस्जिदों के हौज को खाली कराएं ताकि लोग उसमें वुजू न कर सकें। बच्चों को मस्जिद में न लाएं और बुजुर्ग भी घर में नमाज अदा करें। वक्फ बोर्ड की अपील में कहा गया है कि तमाम लोग भीड़ से बचें और दूसरों को भी इससे बचने की सलाह दें। मस्जिदों में जुमा व फर्ज नमाजों की जमात में मस्जिदों के पदाधिकारी मौजूद रहें ताकि भीड़ इकट्ठा न हो सके। आम जमाती अपने-अपने घरों में नमाज अदा करें। बोर्ड ने अपील का पालन कराने के लिए प्रदेश के सभी जिलों के कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक को पत्र जारी किया है।