Breaking News

Top News

कोरोना संकट : मुख्यमंत्री सहायता कोष में लोग देने लगे सहयोग राशि, आप भी बढ़ा सकते हैं मदद के हाथ

Share Now

  • मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कल की थी सहयोग की अपील 
  • मुख्यमंत्री सहायता कोष, रेडक्रास सोसायटी में लोग दे रहे हैं सहयोग राशि
  • सिंधी समाज ने भिलाई में बेघरों के लिए निशुल्क भोजन व्यवस्था की

द सीजी न्यूज

कोरोना वायरस का संक्रमण रोकना जितना चुनौती भरा काम है, उतनी ही चुनौती लॉकडाउन से उपजी परिस्थितियों के कारण हो रही है। लोगों के रोजगार चौपट हो चुके हैं। इन परिस्थितियों से समाज के हर वर्ग के लोग परेशान हैं। सबसे ज्यादा परेशान निम्न-मध्यम और निम्न आय वर्ग के लोग हैं। उनकी रोजी रोटी पूरी तरह बंद है।

ऐसी परिस्थितियों में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार को कोरोना संकट से प्रभावित लोगों की सहायता के लिए मुख्यमंत्री कोष में राशि दान करने की अपील की। अपील के बाद सहयोग के हाथ लगातार बढ़ रहे हैं।  प्रदेश के राजस्व मंत्री जय सिंह अग्रवाल ने 3 माह का वेतन, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव डहरिया, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, पीएचई मंत्री गुरू रूद्र कुमार, विधायक अरूण वोरा ने एक एक माह का वेतन देने की घोषणा कर दी है।

बिलासपुर में एक दिन में दानदाताओं ने दिए  11 लाख 

बिलासपुर के कलेक्टर संजय अलंग के आव्हान पर एक ही दिन में रेडक्रास सोसायटी में 11 लाख रुपए जमा हो चुका है। कलेक्टर ने दानदाताओं का आभार मानते हुए ज्यादा से ज्यादा लोगों से सहयोग राशि देने की अपील की है। मुख्य दानदाताओं में संजय अग्रवाल रामा ग्रुप, जिला उद्योग संघ, छत्तीसगढ़ पॉवर एवं कोल बेनिफिकेशन, शैलेष शुक्ला, अमित गुलहरे, मंजू पांडेय, उषा साहू सहित 50 से ज्यादा लोग शामिल हैं।
बेघरों, निराश्रित लोगों को भिलाई नगर निगम ने भवन में ठहराया, सिंधी समाज ने भोजन की व्यवस्था की  

नगर निगम भिलाई क्षेत्र के अंतर्गत बेघर लोगों, भिखारियों के ठहरने की व्यवस्था की है। नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए प्रियदर्शनी परिसर स्थित रैन बसेरा में 50, नेहरू भवन रैन बसेरा में 9, वैशाली नगर कार्यालय रैन बसेरा में 6, आमोद भवन रैन बसेरा में 11 लोगों को ठहराया गया है। कुल 76 लोगों को ठहराने की व्यवस्था की गई है।

इन भवनों में ठहरे हुए 76 व्यक्तियों को सिन्धी युवा मंडल वैशाली नगर ने दिन में दो बार निशुल्क भोजन देने की व्यवस्था की है। ठहरे हुए लोगों को सुरक्षा की दृष्टि से होटल वत्स के संचालक दिलीप सिंह ने हैण्डवाश, साबुन, माॅस्क की व्यवस्था की  है। वे आगे भी निरंतर व्यवस्था करते रहेंगे। निगम प्रशासन ने अपील करते हुए कहा है कि बेघरबार लोगों को चिन्हित भवन में ठहराने और भोजन की व्यवस्था की गई है। ऐसे लोगों की सूचना नगर निगम के प्रभारी अधिकारी अजय शुक्ला को मोबाईल  नम्बर 93035-21947 में दी जा सकती है।

दुर्ग नगर निगम के दो एमआईसी प्रभारियों ने दिया एक माह का मानदेय

नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग के एमआईसी प्रभारी हमीद खोखर, राजस्व विभाग के एमआईसी प्रभारी ऋषभ जैन ने भी एक एक माह का मानदेय मुख्यमंत्री सहायता कोष में देने की घोषणा की है।