Breaking News

Top News

बेसहारा लोगों को दो वक्त की रोटी देने पूरे प्रदेश में निकलने लगे समाज के हीरो …

Share Now

समाज के बेहद गरीब और वंचित तबके के सहयोग के लिए आगे बढ़ रहे अनगिनत हाथ 

द सीजी न्यूज 

रखते हैं जो औरों के लिए प्यार का जज्बा

वो लोग कभी टूट कर बिखरा नहीं करते

ये पंक्तियां उन तमाम लोगों को समर्पित है जो कोरोना वायरस की दस्तक के बाद मुसीबतजदा लोगों के मददगार बनकर उभरे हैं। इस शेर का एक-एक शब्द उन देवदूतों को समर्पित है जो लॉक डाउन के बाद बेघरबार लोगों के लिए मसीहा बन गए हैं। समाज के ये हीरो गरीबी की मार झेलते असहाय लोगों को या भिक्षा मांगकर गुजारा करने वाले बेसहारा बुजुर्गों को भोजन परोस रहे हैं।

रायपुर में सिख फोरम और लायंस क्लब सहित कई संस्थाओं ने संभाला मोर्चा

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर सभी जिलों में कलेक्टर अपने प्रशासनिक अमले के साथ बेसहारा और निराश्रित लोगों को भोजन पहुंचा रहे हैं। रायपुर में लॉक डाउन के दौरान समाज कल्याण विभाग ने जिला प्रशासन और सामाजिक सहयोग से रेल्वे स्टेशन के आसपास 150  से ज्यादा बेसहारा और निराश्रित लोगों तक भोजन पहुंचाया। सामाजिक संस्था सिक्ख फोरम और आकांक्षा लायंस स्कूल ने भोजन तैयार करने से लेकर भोजन की  सुरक्षित पैकिंग और वितरण में सहयोग किया। अन्य सामाजिक संस्थाएं भी अपने अपने एरिया में बेसहारा लोगों के लिए भोजन के पैकेट तैयार कर रहे हैं।

लॉक डाउन होते ही लोगों की भूख मिटाने खुद अपने बूते पर निकल पड़े

लॉकडाउन के बाद पिछले तीन दिनों में इंसानियत का जज्बा दिखाने वाले लोगों की कई तस्वीरें देखने मिली। दुर्ग में भाजपा नेता नितेश साहू रात को अपने एक साथी के साथ फुटपाथ पर जीवन बसर करने वाले लोगों को भोजन के पैकेट बांटते दिखे।

 

नगर निगम के पूर्व सभापति व पार्षद राजकुमार नारायणी पिछले तीन दिनों से लॉकडाउन के बाद हर दिन रेलवे स्टेशन के आसपास रहने वाले बेघरबार लोगों को खुद भोजन परोस रहे हैं। जनसमर्पण संस्था के बंटी शर्मा ने गरीबों को भूखा न सोने देने की जैसे कसम खा ली है। पिछले कई महीनों से हर दिन गरीबों के लिए भोजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था करना उनकी दिनचर्या का अहम हिस्सा है।

सिंधी समाज, मुस्लिम समाज भी निभा रहे भागीदारी

छत्तीसगढ़ में जकात फाउंडेशन की अपील पर मुस्लिम समाज के नागरिकों ने फाउंडेशन के खाते में करीब 87 हजार रुपए जमा कर लिया। ये रकम गरीबों को भूख, दवाइयों जैसी जरूरतों को पूरा करने में खर्च की जाएगी। फाउंडेशन की अपील पर सभी जिलों में मुस्लिम समाज के लोगों ने गरीबों और बेसहारा लोगों की मदद के लिए सहयोग के हाथ आगे बढ़ाए हैं। भिलाई में सिंधी समाज ने दर्जनों निराश्रित लोगों के लिए भोजन व्यवस्था करने लंगर का इंतजाम किया है।

इससे पहले 22 मार्च को एक दिन के लॉक डाउन के दौरान रेलवे स्टेशन पर गुजरात से आए 3 सौ से ज्यादा मजदूरों के लिए भोजन जुटाने तकियापारा के मुस्लिम समाज ने घर-घर से रोटियां जुटाई, सब्जी, पुलाव का इंतजाम किया। आज 26 मार्च को तकियापारा में कांग्रेस नेता नासिर खोखर ने लोगों को मुफ्त में सब्जियां बांटी। भीड़ न बढ़े, इसके लिए बाकायदा लोगों को एक एक मीटर दूर खड़े कर उन्होंने एक मेटाडोर सब्जी बांट दी।

समाज के बेहद गरीब और वंचित तबके के लिए सहयोग के अनगिनत हाथ आगे बढ़ रहे हैं… इतने कि एक आर्टिकल में सबके योगदान को समेट पाना संभव नहीं है। लोगों का यह जज्बा कायम रहे … लगातार … बिना रुके… बिना थके… यही कामना है।